Breaking News

पुलिसवालों को कश्मीर में क्यों निशाना बना रहे हैं चरमपंथी —


शहाब सिद्दीकी
News9 24×7
भारत प्रशासित कश्मीर में चरमपंथियों ने इस साल 31 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी. पुलिसकर्मी यहां विद्रोह के दुष्परिणाम झेल रहे हैं.
22 अगस्त को मोहम्मद अशरफ़ डार की उनके ही घर में हत्या कर दी गई. वह ईद का दिन था. 45 साल के सब इंस्पेक्टर अशरफ़ की पोस्टिंग केंद्रीय कश्मीर में थी.
लेकिन, वो अपनी अपनी पत्नी और बच्चों के साथ छुट्टियां बिताने आए हुए थे. उनका परिवार दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा ज़िले में स्थित लार्वे नाम के छोटे से गांव में रहता है जो धान के खेतों और सेब के बागानों से घिरा हुआ है.
जुलाई 2016 में चरमपंथी बुरहान वानी की मौत के बाद इस इलाके में हिंसा भड़क उठी थी. इसके बाद पुलिसकर्मी, खासकर स्थानीय मुस्लिम, इस हिंसा के सबसे ज्यादा शिकार बने थे.
हाल के महीनों में, उन्हें अपने घरों से दूर रहने या घर जाने पर बेहद सावधानी बरतने के लिए ​बोला गया है ।

About Ranjeet Singh Rathour

Ranjeet Singh Rathour
The name is enough

Check Also

लॉकडाउन: पी एम मोदी ने दे दिया इशारा, 3 मई को खत्म नहीं होगा लॉकडाउन ?

रंजीत सिंह राठौर लखनऊ- वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन को 3 मई तक …

One comment

  1. I am now not sure the place you’re getting your info, but
    good topic. I must spend some time finding out more or figuring out more.
    Thanks for excellent information I was in search of this information for
    my mission.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *